Hindi Hadees, हदीस,Hadith in Hindi,Bukhari Hadees. Beautiful Hadees in Hindi,Hadis Hindi,,Hadees in Hindi PDF,Hadees Sharif in Hindi



Hindi Hadees, हदीस,Hadith in Hindi,Bukhari Hadees. Beautiful Hadees in Hindi,Hadis Hindi,,Hadees in Hindi PDF,Hadees Sharif in Hindi

 

बुखारी शरीफ की हदीस | Hadith of Bukhari Sharif in Hindi

 

Hindi hadees.हदीस.Hadith in hindi.Beautiful hadees in hindi.Hadis hindi.Hadees e kisa in hindi.Hadees in hindi PDF.Hadees sharif in hindi.40 hadees in hindi PDF.Sahih bukhari PDF in hindi.40 hadees in hindi.Hadis nabi in hindi.Bukhari shareef hadees in hindi PDF download.Hadees hindi mein.

 

Hadees  Best Hindi Hadees- हदीस | Hadith in Hindi | Bukhari Hadees In Hindi

 

बाब 6: फितनों के वक्‍त जंगलों में रहने का बयान।  

 

हदीस न. [2193]: सलमा बिन अकवा रजि. से रिवायत है कि वो हज्जाज के पास गये। हज्जाज ने उनसे कहा, ऐ इब्ने अकवा रजि.! तू ऐड़ियों के बल फिर गया और जंगल का बासी बन गया। सलमा रजि. ने फरमाया,ऐसा नहीं है बल्कि रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने मुझे जंगल में रहने की खास इजाजत दी थी।  

 

फायदे: एक हदीस में है कि हिजरत के बाद जंगल में बसेरा करना बाइसे लानत है। हां, अगर फितना हो तो जंगल में रहना बेहतर है। इस हदीस के पेशे नज़र हज्जाज बिन युसूफ ने ऐतराज किया। वाक्या यह है कि शहादते उसमान रजि. के बाद सलमा बिन अकवा रजि. ने मदीने से निकलकर रब्जा में रिहाइश इख्तियार कर ली थी। मरने से कुछ दिन पहले मदीना में आ गये और वहीं आपका इन्तेकाल हुआ।



Hadees  Best Hindi Hadees- हदीस | Hadith in Hindi | Bukhari Hadees In Hindi

बाब 7: जब अल्लाह किसी कोम पर अजाब नाजिल करता है तो (उसकी जद में हर तरह के लोग आ जाते हैं)।  

 

हदीस न. [2194] : इब्ने उमर रजि. से रिवायत है, उन्होंने कहा ( हज़रत मुहम्मद) रसूलुल्लाह सलल्‍लल्लाहु अलैहि. वसल्लम ने फरमाया - जब अल्लाह तआला किसी कौम पर अजाब नाजिल फरमाता है तो वो अजाब कौम के सब लोगों को पहुंचता है। फिर कयामत के दिन वो अपने अपने आमाल पर उठाये जायेगे।  

 

फायदे: ऐसी सूरते हाल उस वक्‍त सामने आयेगी जब लोग बुराई को देखकर उसे ठण्डे पेट बर्दाश्त कर लेंगे। उनमें नेक व बुरे की तमीज नहीं होगी। कयामत के दिन उनकी नियतों और किरदार के मुताबिक उनसे अच्छा या बुरा सलूक किया जायेगा। जैसा कि मुख्तलिफ हदीसों में यह मजमून आया है। (फतहुलबारी 13,/60


Hadees  Best Hindi Hadees- हदीस | Hadith in Hindi | Bukhari Hadees In Hindi

बाब 8: उस आदमी का बयान जो कौम के पास जाकर एक बात कहे, फिर वहां से निकलकर उसके खिलाफ कहे।  

 

हदीस न. [2195] : हुजेफा रजि. से रिवायत है कि उन्होंने फरमाया निफाक तो नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के जमाने में था। अब ईमान के बाद तो कुक्र है। यानी इस जमाने में आदमी मौमिन है या काफिर।  

 

फायदे: हजरत हुजैफा रजि. का मतलब यह है कि रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसललम की वफात के बाद चूंकि वहीअ का सिलसिला बन्द हो गया है। इसलिए किसी के बारे में वाजेह तौर पर मुनाफिकत का हुक्म नहीं लगाया जा सकता। इसलिए कि दिल का हाल मालूम नहीं। (फतहुलबारी 13,/74)



Hadees  Best Hindi Hadees- हदीस | Hadith in Hindi | Bukhari Hadees In Hindi

बाब 9: आग का खुरूज (निकलना)। 

 

हदीस न. [2196]: अबू हुरैरा रजि. से रिवायत है कि रसूलुल्लाह सलल्‍लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फरमाया, कयामत उस वक्‍त तक कायम न होगी यहां तक कि हिजाज की जमीन से एक आग नमुदार होगी। जो बुसरा तक ऊंटों की गरदनें रोशन कर देगी।  

 

फायदे: बुसरा इलाका शाम में है। इस आग की रोशनी वहां तक पहुंचेगी। यह आग सात सौ हिजरी में नमुदार हो चुकी है। (फतहुलबारी 13/80)




हदीस न. [2197]: अबू हुरैरा रजि. से ही रिवायत है, उन्होंने कहा रसूलुल्लाह सल्‍लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फरमाया, वो जमाना करीब है कि दरिया फुरात से एक सोने  का खजाना नमूदार होगा। जो वहां मौजूद हो, वो उसमें से कुछ न ले।  

 

फायदे: उस खजाने को पाने के लिए बहुत कत्लो गारत होगी। एक रिवायत में है कि सौ आदमियों में से निन्‍यानवें मारे जायेंगे। सिर्फ एक जिन्दा बचेगा। हर आदमी यही कहेगा कि मैं उस खजाने को हासिल करने में कामयाब होऊगा। (फतहुलबारी 13/81)



Hadees  Best Hindi Hadees- हदीस | Hadith in Hindi | Bukhari Hadees In Hindi

बाब 10:  

 

हदीस न. [2198]: अबू हुरैरा रजि. से रिवायत है कि रसूलुल्लाह सलल्‍लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फरमाया, कयामत उस वक्‍त तक कायम न होगी, जब तक कि ऐसे दो बड़े बड़े गिरोहों में लड़ाई न हो। जिनका दावा एक होगा, उनके बीच खूब खून बहाव होगा। और कयामत उस वक्‍त तक न आयेगी, यहां तक तीस के करीब छोटे दज्जाल पैदा होंगे। और उनमें से हर एक यह दावा करेगा कि मैं अल्लाह का रसूल हूं। और कयामत के करीब के वक्‍त इल्म उठा लिया जायेगा। जलजलों की कसरत होगी! वक्‍त जल्द जल्द गुजरेगा। फितने जाहिर होंगे और कसरत से खूनरेजी होगी। माल की इतनी ज्यादती होगी कि वो पानी की तरह बहता फिरेगा। इस कद्र कि माल वालों को फिक्र होगी कि उसका सदका कोई कबूल करे। वो किसी के सामने उसे पेश्‌ क़रेगा तो वो जवाब देगा, मुझे इसकी जरूरत नहीं है और खूब लम्बी लम्बी इमारतें फख के तौर पर तामीर करेंगे और यहां तक कि एक आदमी दूसरे की कब्र से गुजरेगा और कहेगा, काश मैं उसकी जगह होता। फिर सूरज मगरिब की तरफ से उगेगा। जब इधर से उगता हुआ सब लोग देख लेंगे तो सबके सब अल्लाह पर ईमान लायेंगे। लेकिन वो ऐसा वक्‍त होगा कि किसी नफ्स को ईमान लाना फायदा न देगा। जो पहले ईमान न लाया था और न ही उसने ईमान की हालत में कोई नेकी कमाई थी। ओर कयामत इतनी जल्‍दी कायम हो जायेगी कि दो आदमी आपस में खरीद-फरोख्त कर रहे होंगे। उन्होंने अपने आगे कपड़े का थान फैलाया होगा, न वो सौदे को पुख्ता कर सकेंगे और न ही थान को लपेट सकेंगे कि कयामत आ जायेगी (कयामत इतनी जल्दी कायम होगी कि) एक आदमी अपनी ऊटनी का दूध लेकर चला होगा तो वो उसको पी भी नहीं सकेगा, कयामत आ जायेगी और कुछ लोग हौज को मरम्मत कर रहे होंगे, वो अपने जानवरों को उससे पानी भी नहीं पिला सकेंगे कि कयामत आ जायेगी और कोई आदमी निवाला मुंह तक उठा चुका होगा, अभी उसे खा न सकंगा कि कयामत कायम हो जायेगी।  

 

फायदे: इस हदीस में तीन तरह की कयामत की निशानिया बयान हुई हैं। पहली किस्म वो जो जहूर पजीर हो चुकी हैं। जैसे कत्ल व गारत की कसरत, दूसरी वो जिनका आगाज तो हो चुका है लेकिन पूरी तरह नमुदार नहीं हुई, जैसे जलजलों की कसरत। तीसरी वो जो अभी जाहिर नहीं हुई। आगे होगी, जैसे सूरज का मगरिब से उगना। (फतहुलबारी 13,/84)

 

Hindi hadees.हदीस.Hadith in hindi.Beautiful hadees in hindi.Hadis hindi.Hadees e kisa in hindi.Hadees in hindi PDF.Hadees sharif in hindi.40 hadees in hindi PDF.Sahih bukhari PDF in hindi.40 hadees in hindi.Hadis nabi in hindi.Bukhari shareef hadees in hindi PDF download.